May 23, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

गिरिडीह:मछली लदे वाहन को छोड़ने के लिए मांगी रिश्वत, फोन-पे पर मंगाया पैसा, आरोपी थानेदार निलंबित,एक साल में दूसरी बार निलंबित हुए

2 min read

गिरिडीह: झरखण्ड के गिरिडीह जिले के डुमरी थाना परिसर से वाहन में लदी मछली को अपने चहेतों के बीच बांटने और वाहन छोड़ने के लिए रिश्वत की राशि को फोन पे में मंगाने के आरोप में गिरिडीह के एसपी ने डुमरी थाना प्रभारी सहित दो आरक्षियों और एक आरक्षी चालक को निलंबित कर लाइन हाजिर कर दिया है।

 

बता दें कि वाहन संख्या बीआर 06 जी ई 9308 पर बंगाल से 10 क्विंटल 36 किलो मछली लोड कर मोतीहारी जा रहा था। 27 जनवरी की सुबह जब वह कुलगो टोल प्लाजा से पार कर रहा था।इसी दौरान एक ट्रक से बचने के क्रम में वाहन पलट गया, जिससे कुछ मछली सड़क पर गिर गई। इसमें लगभग दो क्विंटल मछली मौके पर राहगीरों ने लूट ली। कुछ देर बाद डुमरी पुलिस वहां पहुंची और गिरी हुई बचा मछली वाहन पर रखवा कर थाना ले गई। चालक के अनुसार वाहन में लगभग 8 क्विंटल मछली बच गई थी।

आराेप है कि वाहन चालक ने बची मछली को दूसरी गाड़ी से ले जाने की गुजारिश डुमरी थाना प्रभारी गोपाल कुमार महतो से की, लेकिन थाना प्रभारी नहीं माने। इसके बाद वाहन चालक और खलासी के सामने ही थाना परिसर से थाना प्रभारी ने बची हुई मछलियों को अपने चहेतों और अन्य लोगों में बंटवा दिया। बताया जाता है कि इस दौरान थाना प्रभारी के एक चहेता स्वीफ्ट डिजायर कार में दो बोरा मछली लाद कर ले गया।

आराेप यह भी है कि थाना प्रभारी ने वाहन छोड़ने के लिए 10 हजार रुपए मांगे। जब चालक ने रुपया नहीं होने की बात कही तो उन्होने एक मोबाइल नंबर देकर कहा कि इसमें रुपया भेज दो। मजबूर होकर चालक ने उस नंबर पर फोन पे से 6 हजार रूपया भेज दिया। इसके बाबजूद थाना प्रभारी ने और रुपए की मांग करते हुए वाहन नहीं छोड़ा और चालक और खलासी को गाली -गलौज करते थाना से निकाल दिया।इसके बाद चालक बिहार स्थित मोतीहारी जिला के हरसिद्ध निवासी जीतेंद्र यादव ने गिरिडीह एसपी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगायी। मामले का वीडियो और चालक की आपबीती सोशल मीडिया में वायरल होते ही पुलिस महकमा सकते में आ गया।

इधर मामला उस समय और तूल पकड़ा जब पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने ट्वीट कर राज्य के ऊपर इसे एक दाग बताते हुए भ्रष्ट पुलिस वालों को बर्खास्त करने की मांग की थी और यह भी कहा कि हिम्मत देखिए खाते में भी पैसा मंगा लिया। बताया जाता है कि एसपी ने इसे गंभीर मामला मानते हुए रविवार को थाना प्रभारी गोपाल कुमार महतो सहित दो आरक्षी और एक आरक्षी चालक को निलंबित करते लाइन हाजिर कर दिया।

एक साल में दो बार निलंबित हुए थाना प्रभारी

बताया जाता है कि इसके पूर्व गोपाल कुमार महतो को 9 मार्च 2022 को किसी आरोप में निलंबित कर लाईन हाजिर कर दिया गया था।उस समय वे निमियाघाट में थाना प्रभारी थे। इसके बाद 27 नवम्बर 2022 को उन्हें डुमरी थाना प्रभारी बनाया गया था।

 

Giridih: Giridih SP has arrested two constables including Dumri police station in-charge and one constable for distribution of fish loaded in a vehicle from Dumri police station premises in Giridih district of Jharkhand, among their loved ones and asking for bribe amount in phone pay to leave the vehicle. The driver has been suspended and put on the line.

 

Please tell that the vehicle number BR 06 G E 9308 was going to Motihari by loading 10 quintals of 36 kg fish from Bengal. On the morning of January 27, when he was crossing the Kulgo toll plaza, while trying to avoid a truck, the vehicle overturned, causing some fish to fall on the road. In this, about two quintals of fish were looted by passers-by on the spot. After some time, the Dumri police reached there and took the fallen fish to the police station by keeping it on the vehicle. According to the driver, about 8 quintals of fish were left in the vehicle.

It is alleged that the driver requested Dumri station in-charge Gopal Kumar Mahto to take the remaining fish from another vehicle, but the station in-charge did not agree. After this, the station in-charge distributed the remaining fishes among their loved ones and others from the police station premises in front of the driver and the sailor. It is said that during this time, a favorite of the station in-charge took away two sacks of fish in a Swift Dzire car.

It is also alleged that the station in-charge asked for Rs 10,000 to leave the vehicle. When the driver said that he did not have the money, he gave a mobile number and told him to send money to it. Being forced, the driver sent 6 thousand rupees from phone pay to that number. Despite this, the police station in-charge did not leave the vehicle demanding more money and abusing the driver and the helper was expelled from the police station. After this, the driver Jitendra Yadav, a resident of Harsiddh of Motihari district in Bihar, appealed for justice by giving an application to the Giridih SP. . As soon as the video of the incident and the incident of the driver went viral on the social media, the police department was in a fix.

Here, the matter caught fire when former Chief Minister Babulal Marandi tweeted, calling it a stain on the state, demanded the sacking of corrupt policemen and also said that see the courage, asked for money in the account as well. It is said that the SP, considering it a serious matter, on Sunday suspended two constables and one constable driver, including the station in-charge Gopal Kumar Mahato, on the line.

Station in-charge suspended twice in a year

It is said that before this, Gopal Kumar Mahato was suspended on March 9, 2022 on some charges and made to appear on the line. At that time he was in-charge of the police station in Nimiaghat. After this, on 27 November 2022, he was made in-charge of Dumri police station.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *