April 25, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

3000 पुलिसकर्मियों का एक साथ होगा तबादला, जानें क्यों लिया गया एक्शन

2 min read

रांची : झारखंड पुलिस में तीन हजार से अधिक जूनियर पुलिस अफसरों का तबादला 31 जनवरी तक पूरा कर लेना है। राज्य पुलिस में अबतक एक साथ इतने बड़े पैमाने पर कभी तबादले नहीं हुए हैं। राज्य में एक ही जिले में तीन साल से जमे पुलिस अफसरों का तबादला चुनाव आयोग के आदेश पर होना है।ऐसे में इस आदेश के दायरे में साल 2018 बैच के दो हजार से अधिक दारोगा के साथ-साथ कुल तीन हजार से अधिक दारोगा व इंस्पेक्टर स्तर के पुलिस पदाधिकारी शामिल हैं। इस हफ्ते तबादलों को लेकर बोर्ड की बैठक भी होनी है। राज्य पुलिस मुख्यालय के स्तर पर तबादलों की तैयारी पूरी कर ली गई है। वैसे पुलिस पदाधिकारी जो सीआईडी, पुलिस मुख्यालय, स्पेशल ब्रांच, एसीबी या जगुआर में हैं, उन्हें तबादले के दायरे के बाहर रखा जा सकता है। हालांकि इन ब्रांच में भी लंबे समय से पोस्टेड अफसरों को फील्ड में भेजा जा सकता है।ट्रांसफर को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। वैसे पुलिस पदाधिकारी जो सीआईडी, पुलिस मुख्यालय, स्पेशल ब्रांच, एसीबी या जगुआर में हैं, उन्हें इस दायरे के बाहर रखा जा सकता है।

हालांकि इसमें भी जो लंबे समय से पोस्टेड हैं उनको फील्ड में भेजा जा सकता है। तीन साल से जमे डीएसपी स्तर के अधिकारियों का भी तबादला होगा। वहीं डीएसपी रैंक में 93 नवप्रोन्नत हुए अफसरों की भी पोस्टिंग होनी है। राज्य सरकार के द्वारा 150 से अधिक डीएसपी की ट्रांसफर-पोस्टिंग की जानी है। वहीं, राज्य जुटान में तकरीबन दो दर्जन जगहों पर डीएसपी स्तर के पदाधिकारियों का पद रिक्त है।*चुनाव प्रभावित नहीं कर पाएं पुलिसकर्मी इसलिए तबादला :-*चुनाव आयोग के पत्र के आलोक में राज्य के वैसे पदाधिकारियों का तबादला होना है जो एक ही जगहों पर तीन साल या उससे अधिक अवधि से जमे हैं। 30 जून 2024 को तीन साल पूरा होने की अवधि मानकर आयोग ने डेडलाइन तय की है। दरअसल लंबे समय से जमे पदाधिकारियों के द्वारा चुनाव प्रभावित करने की आशंका होती है, इसलि आयोग तीन साल या उससे अधिक अरसे से जमे अफसरों को हटाने का आदेश जारी कर चुका है।

Ranchi: The transfer of more than three thousand junior police officers in Jharkhand Police is to be completed by January 31. There have never been such large-scale transfers in the state police till now. The police officers who have been posted in the same district in the state for three years are to be transferred on the orders of the Election Commission. In such a situation, within the scope of this order, more than two thousand sub-inspectors of the year 2018 batch as well as more than three thousand sub-inspectors and inspectors will be transferred. level police officers are included. A board meeting is also to be held this week regarding transfers. Preparations for transfers have been completed at the state police headquarters level. Those police officers who are in CID, Police Headquarters, Special Branch, ACB or Jaguar can be kept out of the scope of transfer. However, in these branches also, officers posted for a long time can be sent to the field. Preparations for transfer have been completed. Those police officers who are in CID, Police Headquarters, Special Branch, ACB or Jaguar can be kept out of this scope. However, even in this, those who have been posted for a long time can be sent to the field. DSP level officers who have been stuck for three years will also be transferred. At the same time, 93 newly promoted officers are also to be posted in DSP rank. Transfer-posting of more than 150 DSPs is to be done by the state government. At the same time, the posts of DSP level officials are vacant at about two dozen places in the state mobilization. *Policemen were transferred so that they could not influence the elections: – *In the light of the letter of the Election Commission, those officials of the state who are posted at the same places are to be transferred. But it has been stuck for three years or more. The Commission has set the deadline considering June 30, 2024 as the completion of three years. In fact, there is a possibility of influencing the elections by the officials who have been there for a long time, hence the Commission has issued an order to remove the officials who have been there for three years or more.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *