July 21, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

बिहार की बबीता गुप्ता को मिलेगा राष्ट्रपति से पुरस्कार, प्लास्टिक कचरे से बनाती हैं सजावट के सामान

2 min read

पटना : प्लास्टिक कचरे से सजावटी सामग्री बनाकर खुद की जीविका चलाने के साथ दूसरी महिलाओं को भी राह दिखा रहीं मुजफ्फरपुर की सीहो गांव निवासी बबीता गुप्ता को राष्ट्रपति पुरस्कार मिलेगा।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर केंद्रीय जलशक्ति मंत्रालय की ओर से आगामी चार मार्च को विज्ञान भवन, नयी दिल्ली में आयोजित समारोह में उन्हें ”सुजल शक्ति सम्मान 2023″ से सम्मानित किया जायेगा. बबीता स्वयं सहायता समूह (जीविका) की सदस्य हैं और स्वच्छता तथा पेयजल के विभिन्न श्रेणियों के लिए हुई राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में उनका चयन किया गया है.

पति की दिव्यांगता के बाद बनायी अलग राह
पति के निरोग रहने पर बबीता का परिवार भी काफी खुशहाल था. अचानक पति दिव्यांग हो गये और परिवार पर संकट के बादल छा गये. इसके बाद वह जीविका की सदस्य बनीं और प्लास्टिक कचरे से उपयोगी वस्तु बनाने का हुनर जाना. इससे वह खुद स्वावलंबी बन चुकी हैं. अब वह गांव की महिलाओं को प्रशिक्षण दे रही हैं. उनकी इस पहल से 24 से अधिक महिलाएं आत्मनिर्भर हो चुकी हैं.

समाधान यात्रा में बबीता के समूह की ओर से लगी थी प्रदर्शनी
लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत मुजफ्फरपुर के सकरा में प्लास्टिक अपशिष्ट प्रसंस्करण इकाई एवं प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की गयी है. बबीता इस इकाई से जुड़ीं. जल्द ही इस कला में उन्हें महारत हासिल हो गयी. पटना में आयोजित विश्व शौचालय दिवस 2022, राजगीर महोत्सव, हाल में संपन्न “समाधान यात्रा’ में बबीता के समूह की ओर से निर्मित उत्पाद की प्रदर्शनी लगायी गयी थी़.

जीविका के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी बोले
जीविका के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी-सह-लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान/स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के मिशन निदेशक राहुल कुमार ने बबीता की सफलता पर हर्ष व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि बबीता को राष्ट्रपति पुरस्कार मिलने से अपशिष्ट को ‘संसाधन’ में बदलने तथा इसे जीविकोपार्जन का जरिया बनाने वालों अन्य लोगों व महिलाओं का उत्साह बढ़ेगा.

बुके, पर्स की डिमांड
बबीता प्लास्टिक कचरे से सूती एवं ऊनी धागे, रंगों के माध्यम से सजावटी सामग्री बनाती हैं. प्लास्टिक की बोतलों से-कृत्रिम फूल के बुके, एक्स-रे फिल्म की कतरनों से फूलदानी, लटकनी, पाउच, बैग, पर्स, झोले, रंगबिरंगे गुलदस्ता इत्यादि बनातीं हैं. लोग इन उत्पादों को अच्छी कीमत देकर खरीदते हैं.

Patna: Babita Gupta, a resident of Seho village of Muzaffarpur, who is making her own livelihood by making decorative material from plastic waste and showing the way to other women, will get the President’s Award.

On International Women’s Day, she will be honored with “Sujal Shakti Samman 2023” at a function to be organized at Vigyan Bhavan, New Delhi on March 4 by the Union Ministry of Jal Shakti. He has been selected in the national level competition held for various categories.

Made a different path after husband’s disability
Babita’s family was also very happy when her husband remained healthy. Suddenly the husband became disabled and the family was in trouble. After this she became a member of Jeevika and learned the skill of making useful items from plastic waste. With this she has become self-reliant. Now she is giving training to the women of the village. With this initiative of hers, more than 24 women have become self-sufficient.

Exhibition was organized by Babita’s group in Samadhan Yatra
Under the Lohia Swachh Bihar Abhiyan, a plastic waste processing unit and training center has been set up at Sakra in Muzaffarpur. Babita joined this unit. Soon he mastered this art. An exhibition of products made by Babita’s group was organized in the recently concluded “Samadhan Yatra” on World Toilet Day 2022, Rajgir Mahotsav, organized in Patna.

CEO of Jeevika said
Chief Executive Officer of Jeevika-cum-Mission Director of Lohia Swachh Bihar Abhiyan/Swachh Bharat Mission (Rural) Rahul Kumar has expressed happiness over Babita’s success. He said that Babita receiving the President’s Award will encourage other people and women to convert waste into a ‘resource’ and make it a means of earning a living.

demand for bouquets, purses
Babita makes decorative materials from plastic waste through cotton and woolen threads, colours. Artificial flower bouquets are made from plastic bottles, vases, pendants, pouches, bags, purses, bags, colorful bouquets etc. are made from X-ray film clippings. People buy these products by paying a good price.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *