July 21, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

हल्दीपोखर में रामनवमी जुलूस के दौरान पथराव के विरोध में आज बाजार पूरी तरह बंद रहा,लोगों ने सीओ को हटाने की मांग की…

2 min read

 

जमशेदपुर। झारखण्ड के पूर्वी सिंहभूम जिले के कोवाली थाना क्षेत्र के हल्दीपोखर में रामनवमी विसर्जन जुलूस के दौरान शुक्रवार को हुए विवाद के बाद शनिवार को हल्दीपोखर हाता और हेंसल बाजार पुरी तरह से बंद रहा। इस दौरान हल्दीपोखर बाजार पूरी तरह पुलिस छावनी में तब्दील रहा। क्षेत्र में ग्रामीण एसपी मुकेश कुमार लुणायत, अनुमण्डल दंडाधिकारी पीयूष कुमार सिन्हा, डीएसपी मुसाबनी चंद्र शेखर आज़ाद, एसओ राजीव रंजन दल बल के साथ गश्ती करते हुए लोगो से शांति की अपिल करते रहे।इधर,पदाधिकारियों ने विजय बजरंग अखाड़ा कमेटी के लोगों से भी मुलाकात की।जहां लोगों ने जुलूस के दौरान पत्थरबाजी करनेवाले दूसरे समुदाय पर सख्त कार्रवाई और पोटका के अंचलाधिकारी इम्तियाज अहमद को हटाने की मांग की।

वहीं हल्दीपोखर में रामनवमी विसर्जन जुलूस के दौरान शुक्रवार को हुए विवाद के बाद शनिवार को जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, विधायक संजीव सरदार, पूर्व विधायक मेनका सरदार,भाजपा जिलाध्यक्ष गुंजन यादव, झामुमो नेता सुनील महतो आदि पहुंचे।सभी ने विजय बजरंग अखाड़ा कमेटी के घटना की जानकारी लिया।इस दौरान पदाधिकारी से मिलकर दोषी पर कार्रवाई की मांग किये। सभी ने घायल मुखिया देवी कुमारी भूमिज से मिलकर स्थिति की हालचाल लिये।


बता दें कि विजय बजरंग अखाड़ा हल्दीपोखर शुक्रवार शाम के चार बजे रामनवमी झंडा विसर्जन जुलूस के दौरान दो पक्षों में भिड़ंत के बाद जुलूस का झंडे का अग्र भाग टूट गया था,जिसके बाद हंगामा शुरू हो गया था। लोग प्रशासन से झंडा टूटने का विरोध कर रहे थे। इसी बीच पश्चिमी भाग और रंकिणी मंदिर के पीछे से दूसरे पक्ष द्वारा पथराव शुरू कर दिया गया। जिसमें हल्दीपोखर पूर्वी पंचायत की मुखिया देवी कुमारी भूमिज गंभीर रूप से घायल हो गयीं। वहीं, पथराव से पोटका सीओ इम्तियाज अहमद, पूर्व मुखिया सैय्यद जबीउल्लाह समेत कई लोग घायल हो गये थे।

 

Jamshedpur. Haldipokhar Hata and Hensal Bazar remained completely closed on Saturday following a brawl on Friday during the Ram Navami immersion procession at Haldipokhar under Kovali police station area of ​​East Singhbhum district of Jharkhand. During this Haldipokhar market was completely converted into a police cantonment. Rural SP Mukesh Kumar Lunayat, Sub-Divisional Magistrate Piyush Kumar Sinha, DSP Musabani Chandra Shekhar Azad, SO Rajeev Ranjan while patrolling with the team force appealed to the people for peace. Here, the officials also appealed to the people of Vijay Bajrang Akhara Committee Where people demanded strict action against other community who pelted stones during the procession and removal of Potka Circle Officer Imtiyaz Ahmed.

On the other hand, Jamshedpur MP Vidyut Varan Mahto, MLA Sanjeev Sardar, former MLA Maneka Sardar, BJP District President Gunjan Yadav, JMM leader Sunil Mahto, etc. reached Haldipokhar on Saturday after the controversy during the Ram Navami immersion procession on Friday. All of them reached the Vijay Bajrang Akhara Committee. Took information about the incident. During this, met the officer and demanded action against the culprit. Everyone met the injured chief Devi Kumari Bhumij and inquired about the situation.

Please tell that during the Ram Navami flag immersion procession at Vijay Bajrang Akhara Haldipokhar at 4 pm on Friday, the front part of the flag was broken after a clash between the two sides, after which the ruckus started. People were protesting against the breaking of the flag by the administration. Meanwhile, stone pelting was started by the other side from behind the western part and Rankini temple. In which Devi Kumari Bhumij, head of Haldipokhar East Panchayat, was seriously injured. On the other hand, many people including Potka CO Imtiaz Ahmed, former chief Syed Zabiullah were injured due to stone pelting.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *