May 23, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

कुम्हार साईं पाउडी शक्तिपीठ में वार्षिक जताल पूजा 21 सितंबर को

1 min read

खरसावां के कुम्हार साईं स्थित माता पाउडी के शक्ति पीठ पर आगामी 21 सितंबर को वार्षिक जताल पूजा का आयोजन होगा उक्त जानकारी देते हुए देउरी सुकरा नायक ने बताया कि खरसावां के प्रसिद्ध शक्तिपीठ का विशेष महत्व है माता पाउडी की आराधना करते हुए विधि विधान से पूजा अर्चना कर श्रद्धालु ने पहली फसल भगवान की अर्पित करते हैं बता दें कि खरसावां का वार्षिक जताल पूजा यहां के प्रमुख पूजा है मां पाउडी की माता भगवती का एक रुप माना जाता है, जताल पूजा की यह परंपरा 13 वो सदी से पुरानी है, जो आज भी कायम है, उल्लेखनीय है कि पूर्व में इस पूजा का आयोजन राज परिवार की ओर से किया जाता था वर्ष 1949 से पूजा का पूरा खर्च राज्य सरकार वहन करती है इस पूजा अर्चना होने के पश्चात हैं इस वर्ष की धान के फसल से चावल बनाकर खाया जाता है, ।

Annual Jatal Puja will be organized on 21st September at the Shakti Peeth of Mata Pauri located at Kumhar Sai in Kharsawan. Giving the above information, Deuri Sukra Nayak said that the famous Shaktipeeth of Kharsawan has special significance in worshiping Mata Pauri as per the rituals. The devotees offer the first crop to God. Let us tell you that the annual Jatal Puja of Kharsawan is the main puja here. Mother Pauri is considered to be a form of Goddess Bhagwati. This tradition of Jatal Puja is older than 13th century, which is still there today. It is noteworthy that earlier this puja was organized by the royal family. Since 1949, the entire expense of the puja is borne by the state government. After the puja, rice is prepared and eaten from this year’s paddy crop. Is, .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *