July 22, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

अशोका इंटरनेशनल स्कूल में अंतर हाउस प्रतियोगिता के अंतरगत जूनियर विंग के बच्चों के द्वारा किसान के रूप विभिन्न सब्ज़ियां एवं मौसमी फलों के माध्यम से बाज़ार मंडी का निर्माण कर क्रय विक्रय की शैली प्रस्तुत की ।

1 min read

आज दिनांक 2 सितम्बर 2023 को अशोका इंटरनेशनल स्कूल में अंतर हाउस प्रतियोगिता के अंतरगत जूनियर विंग के बच्चों के द्वारा किसान के रूप में अपने आप को प्रस्तुत करना था जिसमें बच्चों के द्वारा विभिन्न सब्ज़ियां एवं मौसमी फलों के माध्यम से बाज़ार मंडी का निर्माण कर क्रय विक्रय की शैली प्रस्तुत की ।

इसके साथ ही सीनियर विंग के बच्चों के द्वारा cook without Fire के थीम के तहत विभिन्न व्यंजनों की प्रस्तुति की गई थी इस अवसर पर मुख्य अतिथि विरसा कृषि विश्वविद्यालय राँची के कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर मनोज कुमार वर्णवाल जी ने निरीक्षण किया और बच्चों को कृषि उत्पादन के बारे में कई जानकारियां साझा की उन्होंने बच्चों की क्रियाकलापों को देख कर ख़ुशी प्रकट की और कृषि के क्षेत्र में झारखंड राज्य का आत्म निर्भर बनने की सफलता को बच्चों के बीच जानकारी दी आज केभौतिकवादी युग में बच्चों को कृषि के क्षेत्र में जागरूक करने के लिए स्कूल के निर्देशक श्री सत्यनारायण प्रधान के द्वारा बच्चों को प्रोत्साहित किया साथ ही सभी शिक्षकतर कर्मचारी बच्चों के द्वारा लगाए गए स्टॉल से सब्ज़ियां एवं व्यंजनों की क्रय करके उनके मेहनत की सराहना की॥

Today, on 2nd September 2023, as part of the Inter House Competition at Ashoka International School, the children of the Junior Wing were to present themselves as farmers in which the children would create a market for buying and selling of various vegetables and seasonal fruits. Presented the style of

 

Along with this, various dishes were presented by the children of the senior wing under the theme of cook without fire. On this occasion, the chief guest, Dr. Manoj Kumar Varnwal, agricultural scientist of Virsa Agricultural University, Ranchi inspected and taught the children about agricultural production. He expressed his happiness after seeing the activities of the children and informed the children about the success of Jharkhand state in becoming self-reliant in the field of agriculture. In today’s materialistic era, the school has organized a program to make children aware about the field of agriculture. Director Shri Satyanarayan Pradhan encouraged the children and all the non-teaching staff appreciated their hard work by purchasing vegetables and dishes from the stalls set up by the children.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *