July 21, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

मंत्री अर्जुन मुंडा के प्रयास से श्रीनगर के कलरपूर् में फसी मजदूरी करने के 16 मजदूर सकुशल घर लौटे

1 min read

सरायकेला : भारत सरकार के जनजातीय मामला के मंत्री अर्जुन मुंडा के प्रयास से श्रीनगर के कलरपूर् में फसी मजदूरी करने के 16 मजदूर सकुशल अपने घर लौटे सरायकेला खरसावां जिला के अंतर्गत गम्हरिया प्रखंड दुगनी के रहने वाले सूलम मजदूर श्रीनगर के कलर पूरी में मजदूर करने गई थी प्राप्त जानकारी के अनुसार सभी गामारिया प्रखंड अंतर्गत दुगनी के रहने वाले 16 मजदूर वहां मजदूरी करने गई थी जहां मजदूरों की बंधक बनाकर उनसे बंधुआ मजदूर कराई जा रही थी मजदूरी को जबरन रखी जाने का मामला केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के संज्ञान में आया जिसके बाद केंद्रीय मंत्री की प्रयास से सभी 16 मजदूरों को सकुशल उनके घरों तक पहुंचाया गया मामला को लेकर केंद्रीय मंत्री ने स्थानीय जिला प्रशासन के सहयोग के सभी मजदूरों को सकुशल रिसक्यू क्या बाद में उनके घर तक पहुंचाया जाने की व्यवस्था की गई सभी मजदूर एक निजी कंपनी मैं कार्यरत है जहां पहले कुछ मजदूर वहां काम करने गई थी मजदूरों ने परिजनों की सूचना दी कि उन्हें लगातार काम के साथ प्रताड़ित किया जा रहा है साथियों उनका शारीरिक और मानसिक शोषण हो रही है

Seraikela: Due to the efforts of Arjun Munda, Minister of Tribal Affairs, Government of India, 16 laborers trapped in Kalarpur, Srinagar, returned to their homes safely. Under Seraikela Kharsawan district, Solam laborer, a resident of Gamharia block Dugni, had gone to work in Kalarpuri, Srinagar. According to the information received, all the 16 laborers who live twice as much under the Gamaria block had gone to work there where the laborers were being taken hostage and forced to work as bonded labourers. With the efforts of all the 16 laborers, all the 16 laborers were safely taken to their homes, regarding the matter, the Union Minister, with the help of the local district administration, made arrangements for the safe rescue of all the laborers, and later all the laborers are working in a private company. Where earlier some laborers had gone to work there, the laborers informed their relatives that they are being harassed with constant work, they are being physically and mentally abused.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *