July 22, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

सरायकेला थाने का दामन एक बार फिर हुआ दाग दार, थाने के एसपीओ दिनेश साहू के अनैतिक दबाव के कारण 16 वर्षीय युवक ने ट्रेन के आगे कुदकर दी जान, परिजनों सहित सरायकेला वासियों ने थाने का किया धेराव

2 min read

सरायकेला खरसावां जिले के सरायकेला थाने के बाल मित्र हाजत में नाबालिग द्वारा किए गए आत्महत्या से चर्चित सरायकेला थाना में एक बार फिर एक और नाबालिक की आत्महत्या के लिए मजबूर किए जाने का मामला सामने आया है जिसमें सरायकेला बाजार का रहने वाला 16 वर्षीय युवक सागर राणा ने सीनी रेलवे स्टेशन के समीप ट्रेन के आगे कुदकर आत्महत्या कर ली है जिसके बाद मृत युवक के शव को लेकर सरायकेला थाने का घिराव कर दिया इस दौरान जमकर हंगामा करते हुए सरायकेला वासियों द्वारा मृत्यु युवक सागर राणा की आत्महत्या के लिए कारण रहे सरायकेला थाने के तथा कथित खबरी एसपीओ दिनेश साहू पर कार्रवाई करते हुए गिरफ्तारी की मांग किया गया मौके पर सरायकेला थाना प्रभारी नीतीश कुमार द्वारा परिजनों से प्राप्त आवेदन के आधार पर मामले को गहनता से जांच करते हुए न्याय संगत कार्रवाई करने का आश्वासन दिए जाने के बाद भी लोगों का आक्रोश शांत नहीं हुआ इस संबंध में जानकारी देते हुए सरायकेला थाना प्रभारी नीतीश कुमार ने बताया कि जमशेदपुर के साकची थाने से फीन आया कि सरायकेला बाजार निवासी सागर राणा के खिलाफ मोबाइल चोरी किए जाने को एक शिकायत थाना में दर्ज कराई गई है इसके अनुसंधान का जिम्मा सारे कला थाना प्रभारी द्वारा एस आई अभिमन्यु कुमार को सोपा गया अभिमन्यु द्वारा एसपीओ दिनेश साहू को सागर राणा के घर जाकर उससे मोबाइल के साथ खाने में उपस्थित होने का कार्य सौपा गया। इस संबंध में मृत युवक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि दिनेश साहू ने सागर राणा के घर जाकर उसके 14 वर्षी की छोटे बहन को धमकाते हुए मामला से बचाने के लिए 50 हजार की मांग की नहीं देने के स्थिति में दिनेश साहू ने जेल भेजवाने की धमकी दी जिससे भारी तनाव में आकर सागर राणा ने सीनी जाकर रेलवे स्टेशन के समीप ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली। घर का एक लोटा बेटा था सागर मृत क सागर राणा के पिता का देहांत 2 वर्ष पूर्ण हो गया था और वह अपने माता और बहन के साथ रहते हुए परिवार संचालन में सहयोग कर रहा था। इधर घटना की सूचना मिलते ही विधायक प्रतिनिधि सनद आचार्य घटनास्थल सीनी रेलवे स्टेशन पहुंची जहां उन्होंने मृतक के शव को लेकर जीआरपी और आरपीएफ में आपस में चल रहे खीचतान की सुलझाते हुए मृत क का शव एबुलेस द्वारा सरायकेला पहुचवाया और मामले को सुचना मृत क के परिजनों को दी। सरायकेला निवासी और परिजन दिनेश साहू को गिरफ्तारी होने तक थाने में डटे हुए है।

Seraikela Kharsawan district’s Bal Mitra Hajat of Seraikela police station, once again a case of forcing another minor to commit suicide has come to light in Seraikela police station, in which 16-year-old youth Sagar Rana, a resident of Seraikela market, has come to the fore. Committed suicide by jumping in front of the train near Sini railway station, after which they surrounded the Seraikela police station with the dead body of the dead youth. During this, the people of Seraikela created a ruckus. And while taking action against the alleged informer SPO Dinesh Sahu, arrest was demanded. Seraikela police station in-charge Nitish Kumar, on the basis of the application received from the family members, probing the matter thoroughly, even after assuring to take appropriate action Giving information in this regard, Seraikela police station in-charge Nitish Kumar said that the information came from Sakchi police station of Jamshedpur that a complaint has been lodged in the police station against Sagar Rana, a resident of Seraikela Bazar, for the theft of mobile. SPO Dinesh Sahu was assigned by Abhimanyu to go to Sagar Rana’s house and attend dinner with his mobile. In this regard, the family members of the deceased youth have alleged that Dinesh Sahu threatened to go to Sagar Rana’s house and demanded Rs 50,000 to save his 14-year-old younger sister from the case. Threatened due to which Sagar Rana went to Seeni and committed suicide by jumping in front of the train near the railway station. There was only one son in the house, Sagar died. Sagar Rana’s father had passed away two years ago and he was helping in running the family while living with his mother and sister. Here, as soon as the information of the incident was received, the MLA representative Sanad Acharya reached the scene of the incident, Sini railway station, where he resolved the tussle between the GRP and RPF regarding the dead body, and sent the body of the deceased A to Seraikela by Abules and informed the relatives of the deceased A. Gave to Residents and relatives of Seraikela

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *