June 15, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

खरसावां रेगीगीडा उत्क्रमित विद्यालय मैं कचरे में लगायी आग, प्लास्टिक उड़ने से छात्र की आंखों में चोट लगी, डीसी ने दिया जांच के आदेश।

1 min read

खरसावां प्रखंड के रेगोगोडा उत्क्रमित मध्य विद्यालय में विद्यार्थियों ने कचरा की सफाई उसमें आग लगा दी इस दौरान प्लास्टिक का जलते टुकड़ा उड़कर छठी कक्षा के छात्र की आंखों में लग गया छात्र गुरमीत महती की आनन फानन में सरायकेला सदर अस्पताल ले जाया गया। वहां वहां इलाज के बाद हालात में सुधार है चिकित्सकों ने कहा कि आंखों में अदरूनी चोट नहीं आया है मलहम लगाने के बाद बच्चा धीरे-धीरे आंख खोल रहा है सूचना मिलने पर शाम को डीएस इ चार्ल्स हेंब्रम व प्रभारी बीइइओ वसुंधरा कुमारी सदर अस्पताल पहुंची घटना की जानकारी ली छात्र के माता-पिता को बेहतर उपचार के लिए ₹20 हजार रुपये का आर्थिक सहयोग किया। ग्रामीण के अनुसार शिक्षकों की लापरवाही से घटना हुई है स्कूल के तीन शिक्षक अटेंडेंस बनाकर गायब थे प्रधानाध्यापक अभिमन्यु प्रधान ने बच्चों को सफाई के काम में लगा दिया था कचरे में आग लगाने के लिए पारा शिक्षिका अन्नपूर्णा महतो ने रसोई घर से माचिस लाकर दी वह हाजिरी बनाकर विद्यालय से निकलकर व्यक्तिगत कम कर रही थी। डीएस इ ने सभी शिक्षकों से मांगा स्पष्टीकरण जिला शिक्षा अधीक्षक चार्ल्स हेंब्रम ने विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक सभी शिक्षकों से मंगलवार के ऊपर 1:00 बजे तक स्पष्टीकरण मांगा है विद्यालय में तीन-तीन शिक्षकों की होने के बावजूद भी किस परिस्थिति में यह घटना हुई।

 

In Regogoda Upgraded Middle School of Kharsawan block, students cleaning the garbage set it on fire, during which a burning piece of plastic flew into the eyes of a Class VI student, Gurmeet Mehti was rushed to Seraikela Sadar Hospital. There the condition is improving after treatment, the doctors said that there is no internal injury in the eyes, after applying the ointment, the child is slowly opening the eyes. On receiving the information, DS E Charles Hembram and in-charge BEEO Vasundhara Kumari reached Sadar Hospital in the evening. Took information about, provided financial assistance of ₹ 20 thousand to the parents of the student for better treatment. According to the villagers, the incident happened due to the negligence of the teachers. Three teachers of the school were missing after making attendance. Principal Abhimanyu Pradhan had engaged the children in the work of cleaning. Mercury teacher Annapurna Mahato brought matches from the kitchen to set the garbage on fire. After leaving school, she was doing personal work. DSE sought explanation from all the teachers District Superintendent of Education Charles Hembram has sought explanation from all the teachers in-charge of the school till 1:00 pm on Tuesday, under what circumstances this incident took place despite having three teachers each in the school.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *