June 25, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

“LIC” भारतीय जीवन बीमा निगम के स्थापना दिवस की 67 वीं वर्षगांठ हर्षोल्लास पूर्वक सरायकेला प्रखण्ड अन्तर्गत महालिमोरूप बाजार स्थित “जीवन बीमा सेवा केंद्र” पर मनाई गई।

1 min read

इस केंद्र के संचालक सह मुख्य सलाहकार हेमसागर प्रधान ने अपने बीमाधारकों के साथ ‘केक’ काटकर भारतीय जीवन बीमा निगम के 67 वीं वर्षगांठ मनाई और उन्हें एलआईसी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी। श्री हेमसागर प्रधान ने बताया कि एक सितंबर 1956 को स्थापित, भारतीय जीवन बीमा निगम भारत सरकार के स्वामित्व वाला बीमा समूह और निवेश निगम है। एलआईसी लोगो एक लौ से बना है जो जीवन और जीवन बीमा के सुरक्षात्मक हाथों का प्रतीक है जो इसकी निरंतरता सुनिश्चित करता है। एलआईसी के लोगो में ‘योगक्षेमं वहाम्यहम्’ लिखा हुआ है। इसका मतलब है कि आपका कल्याण हमारी जिम्मेदारी है। अर्थात् एलआईसी जिन्दगी के साथ और बाद भी। आगे श्री प्रधान ने कहा कि जीवन बीमा ही एक मात्र साधान है जो बचत के साथ जोखिम सुरक्षा प्रदान करता है। इसमें बोनस के रूप में उचित लाभ की प्राप्ति होती है। इसकी साॅवरेन गारेंटी सौ फीसदी है जो भारत सरकार द्वारा सुरक्षित है। मौके पर तपन कुमार मंडल, प्रफुल्ल प्रधान, गोवर्धन महतो, राजू प्रमाणिक, युवराज प्रधान, श्याम प्रधान, पवन प्रधान आदि उपस्थित थे।

Hemsagar Pradhan, Director cum Chief Advisor of this center celebrated the 67th anniversary of Life Insurance Corporation of India by cutting the ‘cake’ along with his policy holders and wished them a very Happy LIC Day. Shri Hemsagar Pradhan informed that established on 1st September 1956, Life Insurance Corporation of India is an insurance group and investment corporation owned by the Government of India. The LIC logo is made up of a flame which symbolizes life and the protective hands of life insurance which ensure its continuity. ‘Yogakshemam Vahamyaham’ is written in the logo of LIC. This means that your welfare is our responsibility. That is, with and after LIC Life. Further, Shri Pradhan said that life insurance is the only tool which provides risk protection along with savings. In this, reasonable profit is received in the form of bonus. Its sovereign guarantee is 100 percent, which is secured by the Government of India. Tapan Kumar Mandal, Prafulla Pradhan, Govardhan Mahato, Raju Pramanik, Yuvraj Pradhan, Shyam Pradhan, Pawan Pradhan etc were present on the occasion.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *