July 22, 2024

INDIA FIRST NEWS

Satya ke saath !! sadev !!

उत्क्रमीत उच्च विद्यालय अरुवा, प्रयास से जल जीवन मिशन हर घर जल के तहत एक जागरुकता रैली निकाली गई।

1 min read

पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, सरायकेला खरसावां के सौजन्य एवं प्रकाश जन सेवा संस्थान सरायकेला तथा उत्क्रमीत उच्च विद्यालय अरुवा, कुचाई के संयुक्त प्रयास से जल जीवन मिशन हर घर जल के तहत एक जागरुकता रैली निकाली गई। लोगों को संदेश दिया गया कि बरसात के जल को व्यर्थ जाने न दें। पृथ्वी का जल स्तर तेजी से घट रहा है इसलिए सभी ग्रामीण जागरुक होकर अपने अपने घरों में बरसात के जल को संरक्षित करने का प्रयास करें तभी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना हर घर जल सफल होगा। तरूण सिंह ने कहा हर घर जल के तहत देश के ग्रामीण इलाकों में हर घर में पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाना है। इस योजना की शुरुआत भारत सरकार जल मंत्रालय द्वारा 15 अगस्त 2019 को की गई और वर्तमान में 5 राज्य गोवा, तेलंगाना, पंजाब, हरियाणा, गुजरात पूर्ण रुप से शत प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त कर लिए हैं। झारखंड में वर्तमान 63 फीसदी कार्य हो चुका है जिसे 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य है।

कार्यक्रम में मनोज बोयपाई, तरुण कुमार सिंह, दीनबंधु सिंह पात्र, राजेश मंडल , भागीरथी महतो ,अजय मिंज, बुधनलाल मुंडा, कालेश्वरी सरदार, गीतांजली महतो, रमेश बेहरा आदि उपस्थित थे।

Courtesy of Drinking Water and Sanitation Division, Seraikela Kharsawan and with the joint efforts of Prakash Jan Seva Sansthan Seraikela and Utrameet High School, Aruva, Kuchai, an awareness rally was organized under Jal Jeevan Mission Har Ghar Jal. The message was given to the people not to let the rain water go waste. Earth’s water level is decreasing rapidly, so all the villagers should be aware and try to conserve rain water in their homes, only then the government’s ambitious scheme Har Ghar Jal will be successful. Tarun Singh said that under Har Ghar Jal, clean drinking water has to be made available to every household in the rural areas of the country. This scheme was started by the Ministry of Water, Government of India on 15 August 2019 and at present 5 states Goa, Telangana, Punjab, Haryana, Gujarat have completely achieved 100% target. At present 63 percent work has been done in Jharkhand, which is targeted to be completed by 2024.

Manoj Boypai, Tarun Kumar Singh, Deenbandhu Singh Patra, Rajesh Mandal, Bhagirathi Mahato, Ajay Minj, Budhanlal Munda, Kaleshwari Sardar, Geetanjali Mahato, Ramesh Behera etc were present in the programme.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *