December 11, 2023

INDIA FIRST NEWS

Satta Ke Nahi, Satya ke saath !! sadev !!

पूजनीय गौ माता में 33 कोटी देवी देवताओं का वास – मनोज कुमार चौधरी 

2 min read

नगर पंचायत पूर्व उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता मनोज कुमार चौधरी गोपाष्टमी के शुभ दिवस पर अपने आवास में सपरिवार गौ माता का पूजन कर समस्त को भक्तों को गोपाष्टमी की शुभकामनाएं दी।

उन्होंने इस पावन अवसर पर कहा कि वेद अनुसार परम वंदनीय पूजनीय गौ माता के पूजन से 33 कोटी देवी देवताओं के पूजन का फल प्राप्त होता है। गौ माता के दर्शन से ही सभी बला टल जाती है।

हमारी पहली माता जो हमें जन्म देने वाली होती है दूसरी माता गौ माता है जिसके दूध से हम बलिष्ठ और बलवान बनते हैं।

गौ माता के गोबर एवं पंचगव्य (पंचामृत) बिना किसी प्रकार का अनुष्ठान पूरा नहीं होता वेदों ने गौ माता की महिमा का अपार वर्णन किया है। हमारे आसपास या घर में गौ माता की उपस्थिति ही सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है।

उन्होंने अपील करते हुए कहा कि इस इस पावन दिवस और प्रत्येक दिन प्रत्येक सनातनी को गौमाता को अपने हाथों से हरा चारा खिलाना चाहिए और उनके चरण स्पर्श करने चाहिए। अगर आपको अपने घर के आसपास गौमाता ना मिले तो नजदीक की गौशाला में जाकर गौमाता की सेवा जरूर करनी चाहिए।

 

Former Nagar Panchayat Vice President cum BJP leader Manoj Kumar Choudhary, on the auspicious day of Gopashtami, worshiped Mother Cow with his family at his residence and wished all the devotees a happy Gopashtami.

On this auspicious occasion, he said that according to the Vedas, by worshiping the most venerable cow, the result of worshiping 33 crore Gods and Goddesses is achieved. All troubles go away just by seeing Mother Cow.

Our first mother is the one who gives birth to us, the second mother is the cow whose milk makes us strong and powerful.

No ritual is complete without cow dung and Panchagavya (Panchamrit). The Vedas have described the glory of mother cow in abundance. The presence of Mother Cow around us or in our home provides positive energy.

He appealed and said that on this auspicious day and every day, every Sanatani should feed green fodder to mother cow with his own hands and touch her feet. If you do not find a mother cow near your house, then you must go to the nearest cow shed and serve her.

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.